बलराज साहनी का संक्षिप्त जीवन परिचय (Brief biography of Balraj Sahni)

Balraj Sahni biography

बलराज साहनी हिंदी फिल्म जगत के प्रारंभिक दौर के सर्वश्रेष्ठ अभिनेताओं में से एक हैं। इनका जन्म भारत-पाकिस्तान स्वतंत्रता से पहले रावलपिंडी पंजाब में हुआ था। बलराज साहनी प्रारंभ से ही अभिनय के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते थे इसलिए वह इंडियन पीपल थियेटर एसोसिएशन के साथ जुड़ गए। बलराज साहनी की सबसे पहली फिल्म वर्ष 1946 में ख्वाजा अहमद अब्बास द्वारा निर्देशित धरती के लाल थी। उनकी अंतिम फिल्म वर्ष 1977 में आई जलियांवाला बाग थी।बलराज साहनी की कई फिल्में आज भी दर्शकों द्वारा पसंद की जाती है जैसे कि हलचल,  दो बीघा जमीन,  औलाद, घर संसार,  छोटी बहन,  हकीकत,  आए दिन बहार के आदि| 

बलराज साहनी का जन्मदिन और उनकी शैक्षणिक योग्यता (Balraj Sahni’s birthday and his educational qualification)

बलराज साहनी का जन्म  1 मई 1913 को ब्रिटिश इंडिया के समय रावलपिंडी पंजाब में हुआ था। इनका जन्म का वास्तविक नाम  युधिष्ठिर साहनी।  बलराज साहनी ने पंजाब यूनिवर्सिटी द्वारा मान्यता प्राप्त गवर्नमेंट कॉलेज लाहौर से स्नातक की और अंग्रेजी साहित्य में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की थी।  शिक्षा पूरी करने के पश्चात वह दोबारा अपने परिवार के पास रावलपिंडी लौट आए। जल्द ही उन्होंने दमयंती साहनी से विवाह कर लिया था।

बलराज साहनी का प्रारंभिक जीवन (Early Life of Balraj Sahni)

अपनी शिक्षा पूरी करने  और दमयंती साहनी से  विवाह करने के पश्चात  वह 1930 के दशक में  टैगोर की विश्व भारती यूनिवर्सिटी  बंगाल में आकर बतौर हिंदी और अंग्रेजी अध्यापक पढ़ाने लगे। इसी समय के दौरान इनके बेटे परीक्षित साहनी का जन्म हुआ था।  जब परीक्षित साहनी का जन्म हुआ उन दिनों दमयंती साहनी स्नातक की पढ़ाई  कर रही थी। वर्ष 1936 में बलराज साहनी ने महात्मा गांधी के आंदोलन में भी उनका साथ दिया। महात्मा गांधी के आशीर्वाद के साथ वह इंग्लैंड के ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन में  बतौर रेडियो अनाउंसर  काम करने लगी। वर्ष  1943  में वह दोबारा भारत लौट आए। उनके आने के 4 वर्षों बाद वर्ष 1947 में 26 वर्ष की आयु में उनकी पत्नी दमयंती का देहांत हो गया। इसके पश्चात वर्ष 1951 में उन्होंने संतोष चंदोक से दूसरी शादी की।

बलराज साहनी की व्यक्तिगत जानकारी (Personal Information of Balraj Sahni)

वास्तविक नाम युधिष्ठिर साहनी
बलराज साहनी का जन्म दिन 1 मई 1913
 बलराज साहनी की आयु 59 वर्ष
 बलराज साहनी का जन्म स्थान रावलपिंडी पंजाब ब्रिटिश इंडिया ( वर्तमान पाकिस्तान)
 बलराज साहनी की मृत्यु तिथि 13 अप्रैल 1973
बलराज साहनी की मृत्यु का कारण हृदयाघात (  हार्ट अटैक)
 बलराज साहनी की राष्ट्रीयता भारतीय
 बलराज साहनी का धर्म हिंदू
 बलराज साहनी की शैक्षणिक योग्यता अंग्रेजी साहित्य में स्नातकोत्तर
 बलराज साहनी का व्यवसाय अभिनेता और लेखक
बलराज साहनी की कुल संपत्ति ( मृत्यु के समय)4 करोड़ रूपए के लगभग 
बलराज साहनी की वैवाहिक स्थिति विवाहित 

बलराज साहनी  की शारीरिक संरचना (Balraj Sahni body structure)

 बलराज साहनी की लंबाई 6 फुट 1 इंच
 बलराज साहनी का वजन 87 किलोग्राम
 बलराज साहनी का शारीरिक माप छाती 40 इंच,  कमर 32 इंच,  बाइसेप्स 13 इंच, 
 बलराज साहनी की आंखों का रंग  गहरा भूरा
 बलराज साहनी के बालों का रंग काला

 बलराज साहनी का परिवार (Balraj Sahni family)

 बलराज साहनी के पिता का नाम ज्ञात नहीं
 बलराज साहनी की माता का  नाम ज्ञात नहीं 
बलराज साहनी की  पहली पत्नी का नाम दमयंती साहनी ( मृत्यु वर्ष 1947)
 बलराज साहनी की दूसरी पत्नी का नाम संतोष चंदोक ( वर्ष 1951 में दूसरी शादी)
 बलराज साहनी के बेटे का नाम परीक्षित साहनी
 बलराज साहनी की बेटी का नाम शबनम साहनी 
बलराज साहनी की तीसरी संतान का नाम ज्ञात नहीं

बलराज साहनी का हिंदी सिनेमा में पदार्पण और योगदान (Balraj Sahni’s Debut and Contribution in Hindi Cinema)

बलराज साहनी ने वर्ष 1946 में फनी मजूमदार द्वारा निर्देशित फिल्म दूर चलें और इसी वर्ष ख्वाजा अहमद अब्बास द्वारा निर्देशित फिल्म धरती के लाल से  हिंदी सिनेमा में पदार्पण किया था। इन दोनों ही फिल्मों में उनके अभिनय को खूब सराहा गया था। वर्ष 1947 में उन्होंने गुड़िया फिल्मों में भी अभिनय किया। इस फिल्म में बलराज साहनी के साथ उनकी पत्नी दमयंती साहनी ने भी अभिनय किया था। बलराज साहनी को मुख्य पहचान वर्ष 1953 में बिमल रॉय द्वारा निर्देशित फिल्म दो बीघा जमीन  में निभाए गए उनके किरदार  शंभू महतो  से प्राप्त हुई थी। यह फिल्म इतनी सुपरहिट हुई कि इसकी चर्चा विदेशों में भी होने लगी थी। इस फिल्म  और बलराज साहनी के अभिनय को दर्शकों द्वारा  इतना सराहा गया कि इस फिल्म ने उस समय कान्स फिल्म फेस्टिवल में  अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार जीता।

 इसके पश्चात उन्होंने वर्ष उन्नीस सौ 54 में मोहन सहगल द्वारा निर्देशित फिल्म औलाद ने भी मुख्य भूमिका निभाई। बलराज साहनी को दोबारा राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने वाली फिल्म वर्ष 1961 में आई काबुलीवाला थी। इस फिल्म में उन्होंने  काबुल के एक व्यक्ति जिसका नाम अब्दुल रहमान खान दिखाया गया है,  वह भारत में व्यवसाय करने आता है। यहां आकर उसे अपने घर की याद आने लगते हैं। इस फिल्म का सर्वश्रेष्ठ  गीत  ए मेरे प्यारे वतन,  ऐ मेरे बिछड़े चमन,  तुझ पर दिल कुर्बान आज तक  संगीत पसंद करने वाले लोगों को याद है। इस गीत को आवाज़ मन्नडे ने दी थी| 

वर्ष 1964 में आई हकीकत फिल्मों में बलराज साहनी ने मेजर रंजीत सिंह का किरदार निभाया था। यह फिल्म वर्ष 1962 में हुए भारत और चीन के युद्ध के ऊपर आधारित। इस फिल्म के देशभक्ति गीत अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों आज भी हम सभी भारतीय बहुत सांसे गाते हैं। इस फिल्म को आवाज मोहम्मद रफी साहब ने दी थी। वर्ष 1965 में आई  बी आर चोपड़ा द्वारा लिखित और यश चोपड़ा द्वारा निर्देशित फिल्म वक़्त में  बलराज साहनी ने डाला केदारनाथ का किरदार निभाया था। दर्शकों द्वारा उनका यह किरदार भी बहुत सराहा गया और इस फिल्म का गीत ऐ मेरी जोहरा जबी भी सदाबहार गीत बन गया।

 बलराज साहनी की सुपरहिट फिल्मों की सूची (Balraj Sahni superhit movies list)

फिल्म का नाम वर्षफिल्म का नाम वर्ष
 धरती के लाल 1946 गुड़िया 1947
 हम लोग 1951 बदनाम 1952
 दो बीघा जमीन 1953 औलाद 1954
 तांगे वाली 1955 घर संसार 1958
 देवर भाभी 1958 सट्टा बाजार 1959
 अनुराधा 1960 काबुलीवाला 1961
 अनपढ़ 1962 हकीकत 1964
 वक्त 1965 आए दिन बहार के 1966
 लाडला 1966 हमराज 1967 
 संघर्ष1968  एक फूल दो माली 1969
 नानक दुखिया सब संसार 1970 मेरे हमसफर 1970
 प्यार का रिश्ता 1973 हंसते जख्म 1973
 गर्म हवा 1973 अमानत 1977
 जलियांवाला बाग 1977

बलराज साहनी के अवार्ड्स और सम्मान (Awards and Honors of Balraj Sahni)

वर्ष 1969  भारत सरकार द्वारा पद्मश्री सम्मान

वर्ष 1969  सोवियत लैंड नेहरू अवॉर्ड उनके द्वारा लिखी गई किताब मेरा  रूसी सफरनामा के लिए

वर्ष 1953  इंटरनेशनल प्राइस  कान्स फिल्म फेस्टिवल  फिल्म दो बीघा जमीन 

बलराज साहनी का जन्म दिन

 1 मई 1913

 बलराज साहनी की आयु

 59 वर्ष

बलराज साहनी की मृत्यु तिथि

13 अप्रैल 1973

बलराज साहनी की मृत्यु का कारण

हृदयाघात (  हार्ट अटैक)

बलराज साहनी द्वारा लिखी गई किताबें

 बलराज साहनी : आत्मकथा

 मेरा पाकिस्तानी सफरनामा ( पंजाबी) :  वर्ष 1960

 मेरा रूसी सफरनामा ( पंजाबी) :  वर्ष 1969

 कमी ( मजदूर)  ( पंजाबी)

 एक सफर एक दास्तान  ( पंजाबी)

ग़ैर  जज्बाती डायरी  ( पंजाबी)

error: Content is protected !!